मोटिवेशनल कहानी - अंतिम शब्द। for students

मोटिवेशनल कहानी – अंतिम शब्द। for students

 

मोटिवेशनल कहानी – अंतिम शब्द। for students –

मोटिवेशनल कहानी – अंतिम शब्द। for students

एक व्यक्ति बिस्तर पर लेटा हुआ था और अपनी अंतिम साँसे गिन रहा था। चारों और उसके परिवार के लोग खड़े हुए थे। अब व्यक्ति ज़ोर – ज़ोर से साँस लेने लगा और कहने लगा नींबू…. नींबू….नींबू । ये सुनते ही सभी लोग सोचने लगे की अभी ये निम्बू का क्या करेंगे और तभी व्यक्ति की मृत्यु हो गई। अब पूरा परिवार सोचने लगा की वो चाहते थे कि उनके मरने के बाद निम्बू दान में दिए जाए और उन्होंने वैसा ही किया। अब उस परिवार ने वो घर एक बिल्डर को बेच दिया। कुछ समय बाद उस बिल्डर ने वो घर तुड़वा दिया और वहाँ नयी बिल्डिंग का निर्माण शुरू किया । एक दिन मज़दूरों को खुदाई करते हुए बहुत भारी मात्रा में गढ़ा हुआ ख़ज़ाना मिला और उन्होंने उस बिल्डर को बताया।
धीरे – धीरे बात पूरे शहर में फैल गई । उस परिवार को भी पता चला और वो उस बिल्डर के पास गए।
बिल्डर से उन्होंने कहा की ये ख़ज़ाना आपको मिला है ये हमारा है। बिल्डर ने जवाब दिया – ये ख़ज़ाना आपका था,जब ये घर आपका था लेकिन अब ये घर मैंने आपसे ख़रीद लिया है अब इस घर के साथ जो भी आया है वो सब मेरा है।

मोटिवेशनल कहानी - अंतिम शब्द। for students
बिल्डर का ये जवाब सुनकर उन्होंने उसे कोर्ट में मिलने की धमकी दी। कोर्ट में जब ये मामला गया तो
कोर्ट में न्यायाधीश ने फ़ैसला सुनाया की इस ख़ज़ाने पर अधिकार बिल्डर का ही है।
कुछ समय बाद उस व्यक्ति के पोते ने कनेक्शन जोड़ा की दादा जी ने निम्बू….. निम्बू इसलिए कहा था ,क्यूँकि उनके आँगन में एक नींबू का पेड़ था और उसके नीचे ही ख़ज़ाना गढ़ा हुआ था।

 

हम सबके पास कुछ ना कुछ अलग ज़रूर है लेकिन उसे पहचान कम लोग पाते है क्यूँकि हम बाहर की दुनिया को देखकर ख़ुश हो रहे है लेकिन स्वयं का ध्यान कभी करते हीनहीं। कुछ लोगों ने इंजिनीयर , डॉक्टर आदि बनके पैसा कमाया तो हमें भी यही लगता है की हम भी वही कर लेते है लेकिन हम ख़ुद को जानने की कोशिश ही नहीं करते है। जैसे की इस कहानी में व्यक्ति का बेटा, पोता और सभी सदस्य उस नींबू के पेड़ के आस – पास जाते होंगे लेकिन वो अंतिम शब्दों को व्यक्ति की बातों से जोड़ नहीं पाए और ख़ज़ाने को पाने से चूक गए। उसी तरह हम भी ख़ुद होते हुए ख़ुद के बारे में कुछ भी नहीं जानते। और अपने अंदर के ख़ज़ाने को कभी पहचान नहीं पाते।

Summary
मोटिवेशनल कहानी - अंतिम शब्द। for students
Article Name
मोटिवेशनल कहानी - अंतिम शब्द। for students
Description
मोटिवेशनल कहानी - अंतिम शब्द। for students - एक व्यक्ति बिस्तर पर लेटा हुआ था और अपनी अंतिम साँसे गिन रहा था। चारों और उसके परिवार के लोग खड़े हुए थे। अब व्यक्ति ज़ोर - ज़ोर से साँस लेने लगा और कहने लगा नींबू.... नींबू....नींबू । ये सुनते ही सभी लोग सोचने लगे की अभी ये निम्बू का क्या करेंगे और तभी व्यक्ति की मृत्यु
Author
Dilesh Jain
Publisher Name
Accessthetrend.com
Publisher Logo

About the author

dilesh

Hi, I am Dilesh Jain Founder of accessthetrend.com
writing is my passion and when I was writing people were liking my work so I thought let's change passion into profession. So you can say it's all about hobby into a profession.
The main aim of starting this website is to provide most trending things to the people like Political news, technology and new gadgets, Bollywood news , fashion etc.

View all posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *